Home / सुरक्षा

सुरक्षा

हालांकि प्राग अपेक्षाकृत एक सुरक्षित शहर है हिंसा के अपराध बहुत ही कम है, जब भी आप खतरे में हो तो ऐसी विषेष परिस्थितियों में यह जानना बहुत उपयोगी हो सकता है।

दुनिया में कही भी पर्यटको को धोखाधडी के आसानी से लक्षित किया जा सकता है, और यही प्राग में भी है। यदि आप जानते है कि किन विषेष परिस्थितयों में आप प्रभावित हो सकते है तो आप यह सीख सकतें है की स्वयं का बचाव किस तरह करना है। जब आपकी यात्रा सतंोषपूर्ण हो जाएगी तो आपके मन का शांति मिलेगी। प्राग में एक पर्यटक के रूप में, धोखाधडी का प्रमुख विषय टैक्सी, रेस्टोरेंट बिल और मुद्रा विनिमय है।

सुरक्षा

प्राग के रेस्टोरेंट की धोखाधडी

हांलाकि मोजूदा स्थिति दस साल पहले की तुलना में काफी बेहतर है, लेकिन आप को अभी भी सर्तक रहना चाहिए और हमेषा बिल की ध्याान से जाँच करे तो सब ठीक हो जाएगा।

सबसे आम जो धोखे के मामले है उनमे जैसे साॅस, ब्रेड, रोल या टेबल पर रखे प्रेट्जेल आदि का अतिरिक्त शुल्क लेना है। आमतौर पर मेनू में यह लिखा होता है कि ब्रेड के लिए कोई अतिरिक्त शुल्क नही है लेकिन कही जगह यह मुष्किल से दिखाई देता है। यदि आप इन चीजों के लिए भुगतान नही करना चाहते तो इसका सरल उपाय यह है कि वहां के स्टाफ को उन चीजो को वहां से ले जाने के लिए कह दें। अगर आप यह सब नही खाना चाहते और यदि ये सब टेबल पर रखें है तो आपको इनके भुगतान के बाध्य होना पडेगा। आमतौर पर अच्छे रेस्टोरेंट में यह चीजे देखने को नही मिलती है।

अविस्तृत हस्तलिखित बिल – यदि आपको एक विस्तृत बिल नहीं मिलता है तो एक रफ गणना कर ले और यदि किसी प्रकार का संदेह हो तो कर्मचारी से विस्तृत बिल के लिए कहें। इस तरह की घटनाऐं मुख्यतः पब में होती है, लेकिन रेस्टोरेंट में यह सामान्यतः देखने को नही मिलती है।

समूह बिल घोटाले: यदि आप अधिक लोगों के लिए एक बडे बिल का भुगतान कर रहे हो तो यह बहुत ही आसान है कि कुछ अतिरिक्त चीजों का भी आप से शुल्क ले लिया जाए या हो सकता है कि उनकी गणना गलत हो, उदाहरण के लिए आपको 462 ब्रा का भुगतान करना हो और आप से 562 ब्रा के लिए कहा जाए।

सेवा शुल्क घपला: चैक के कानून के अनुसार, बिल में हमेषा एक सेवा शुल्क लिया जाता है, लेकिन वैकल्पिक बख्शीष को इसमें शामिल नही किया जाता है। इसलिए बिल की कुल राषि का 10 प्रतिषत बिल में शामिल किया होता है। कई बार ग्राहकांे को रिझाने के लिए यह कहा जाता है कि उनसे 10 प्रतिषत अतिरिक्त नही लिया गया है। यह सच नही है।

 

प्राग के टैक्सी धोखाधडी

प्राग के टैक्सी ड्राइवरों को उनके बुरे बर्तावा के लिए जाना जाता है, अक्सर सैलानियों को यह पता नही होता हैं कि उनसे अधिक चार्ज लिया गया है, धोखा दिया गया है, और जब तक उन्हे पता चलता है बहुत देर  हो चुकी होती है या जब यह होता है तो उन्हे टैक्सी ड्राइवर से बहस करने में शर्मिन्दगीं महसूस होती है और इसे एक पर्यटक कर के रूप में विचार कर भुगतान करना पड़ता है।

इसके अलावा केबी में आपसे बहुत अधिक कीमत मांगी जाती है, यहां ऐसी अन्य ओर कई  प्रथाएं है जिन्हे पहचानना मुष्किल है। उदाहरण के लिए टैक्सी का तेज चलने वाला मीटर, टैक्सी का टेरिफ ठीक लग रहा है लेकिन जब आप यात्रा केमाइलेज की और कुल किराये की जांच करते है तो यह ठीक नही होता है। इसका मतलब टैक्सी ड्राइवर ने मीटर का इस तरफ से करा हुआ है कि यह वास्तविकता से अधिक बताये। इसलिए इस कारण से हमेषा पहले से ही टैक्सी का लगभग किराय जांच लेना चाहिए।

गलत टैरिफ – टैक्सी की द्वारा की गई यात्रा का माइलेज बिल्कुल सही प्रतीत होता है लेकिन कीमत अधिक होती है। अक्सर यह सामान के टैरिफ या जिले के बाहर का टैरिफ कर के बढ़ाया जाता है। ड्राइवरो के पास हमेषा इसका अच्छा कारण होता है उदाहरण के लिए टैक्सी ड्राइवर किसी अन्य कंपनी के लिए काम कर रहें है जिसका टैरिफ अलग है, किसी का कम तो किसी का ज्यादा ( उदाहरण के लिए जब आप टैक्सी के लिए काॅल करते हो तो फोन पर बताया गया टैरिफ सडक से ली गई टैक्सी की तुलना में काफी कम है आदि )।

छुट्टे – ड्राइवर को कहना होता है कि उन्हे खेद है किन्तू उनके पास देने के लिए खुल्ले नही है- और वे इसे टिप के रूप में ले लेते है या फिर वो आपको गलत मुद्रा में खुल्ले दे देते है इस उम्मीद से दे देते है कि आप नही जानते कि स्थानीय बिल किस तरह के होते है।

अन्य जो चीज है जिसे सुंदर मार्ग कहा जाता है। टैक्सी का टेरिफ और यात्रा की दूरी दोना सही है लेकिन ड्राइवर आपको जानबूझकर अधिक कीमत वसूल करने के लिए अनावष्यक ही बहुत दूर लबे मार्ग से ले जाते है।

हमें भी कुछ ई मेल प्राप्त हुए हैं कि कुछ ड्राइवर जानबूझकर या अनजाने में ही ग्राहकों को गलत होटल में ले जाते है, लेकिन सम्पूर्ण मामलें में ग्राहको को अधिक चुकाना पड़ता है। इसलिए जगह का नाम बताऐं न कि होटल का क्योकि यहाँ एक ही नाम कई होटल है लेकिन एक ही नाम के स्थान बहुत कम है।

 

मुद्रा विनिमय शुल्क

यहाँ एक ओर धोखेबाजी जिसे विनिमय कार्यलय शुल्क और कमीषन आदि के रूप में वसूला जाता है। अधिक जानकारी के इस भाग की जांच करें। एटीएम धोखेबाजी – पूर्व में प्राग में कार्ड की प्रतिलिपी के कई घोटाले हुए है। इसका सरल उपाय यह है कि बाहर की बजाय बैंक के अंदर ए.टी.एम. का प्रयोग करें। इस तरह की धोखबाजी वहां हुए कई मामलों के आधार पर कोई बडा खतरा नही है।

 

मेट्रो धोखेबाजी

यदि आप मेट्रो में प्रवेष कर रहें है ( आमतौर पर रात में), आपको को ठगो का एक दल स्टेषन पर मिल जाएगा जो कि अपने आपको मेट्रो क्लर्क बताकर आपके टिकट की जांच करते है और कई बार उसे गलत बता कर आपसे 500 ब्रा जुर्माने के रूप में ले सकते है( अगर आप उनके साथ बहस करते है तो 1000 ब्रा तक ले लेते है।)। इसलिए अगर ऐसा आपके साथ होता है और यदि आपको पूरा भरोसा है कि आपका टिकट वैद्य है तो उन्हे पुलिस का बुलानें को कहे या स्वयं ही बुलाऐं।

 

शयनयान रेल डकैतियां

शयनयान रेल में सावधान रहे, बैग डकैतियां प्रमुख स्टेषनो की बीच बडी दूरी में होती है। कोई भी जो आपसे आपके टिकट या पासपोर्ट और आपके सामान अािद के बारे में पूछें तो उससे उसकी आई डी (पहचान ) बताने को कहे। अपने पर भरोसा रखें और व्यवहारिक बुद्धि बनाये रखे।